B.ED के इन कॉलेजों की मान्यता खत्म-देखें कहीं आप तो नहीं शामिल।

उच्च शिक्षा विभाग ने देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से संबद्धता प्राप्त तीन बीएड कॉलेजों ( इल्वा , क्रिश्चियन एजुकेशन सोसायटी और यश एजुकेशन सोसायटी ) की मान्यता रोक दी है । बाद में खामियां दूर करने मौका दिया जा सकता है । इंदौर संभाग में देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से संबद्धता प्राप्त 65 कॉलेज हैं । इनमें इंदौर शहर के 31 हैं । यह बात भी सामने आई है कि इस बार कोरोना के चलते एडमिशन प्रक्रिया में देरी होगी । यह प्रक्रिया मई के अंत तक आगे बढ़ सकती है पहले संभावना थी कि बीएड में इस बार अप्रैल में ही एडमिशन होंगे लेकिन अब कोरोना के चलते यह प्रक्रिया 30 अप्रैल के बाद ही शुरू पाएगी । बीएड कोर्स की पूरे प्रदेश हजार से ज्यादा सीटें हैं ।

Advertisement

इंदौर में 6600 सीटें , फीसदी इजाफा संभव इंदौर में बीएड के 31 कॉलेजों 3200 सीटें हैं , जबकि पूरे संभाग डीएवीवी से सम्बद्धता प्राप्त 65 कॉलेजों में 6600 सीटें हैं , अगर इन तीन कॉलेजों की मान्यता नहीं मिल पाती है तो 300 सीटें कम जाएंगी । इधर नए सत्र से बीएड आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण लाग करने की तैयारी है इसके तहत 26 फीसदी सीट बढ़ाई जा सकती हैं । इस बार शासन मेरिट आधार पर बीएड में सीधे एडमिशन की तैयारी कर रहा है । हालांकि अभी तक शासन ऑनलाइन एडमिशन प्रक्रिया के तहत मेरिट आधार पर सूची जारी करता था । इस बार भी अभी तैयारी उसी की है , लेकिन ज्यादा देरी हुई तो सीधे कॉलेज स्तर मेरिट आधार पर एडमिशन होंगे

The Department of Higher Education has stopped accreditation of three B.Ed colleges (ILVA, Christian Education Society and Yash Education Society) affiliated to Devi Ahilya University. Later the opportunity can be corrected. There are 65 colleges affiliated to Devi Ahilya University in Indore division. There are 31 of them in Indore city. It has also been revealed that this time due to Corona, the admission process will be delayed. This process can go on till the end of May. Earlier there was a possibility that admissions to B.Ed will take place in April itself but now due to Corona, this process will start only after April 30. The entire state of B.Ed course has more than thousand seats.

6600 seats in Indore, per cent increase possible 31 colleges of B.Ed in Indore have 3200 seats, while 65 colleges affiliated to the entire divisional DAVV have 6600 seats, 300 seats will be reduced if these three colleges are not recognized. Here, from the new session, BEd is preparing to apply 10% reservation on economic basis, under this, 26% seats can be increased. This time the government is preparing for direct admission in B.Ed on merit basis. However till now the government used to issue the list on merit basis under the online admission process. This time too, the preparation is still the same, but if there is more delay then admissions will be done on the merit basis directly at the college level.

Leave a Comment

Your email address will not be published.