Nios Deled:Bihar में फिर लटक गयी Teachers की बहाली , Nitish Govt . ने NIOS Deled पर NCTE से मांगा परामर्श

बिहार में शिक्षकों की बहाली मजाक बन गई है सरकार भर्ती शुरु करती है लेकिन कोई न कोई बहाना बताकर खुद ही रोक देती है।

Advertisement

कभी लेट के नाम पर तो कभी कोर्ट का हवाला देकर भर्ती प्रक्रिया लटकाए रखती है एक बार फिर यहीं हुआ है।

बिहार सरकार ने एक लाख पंचायत शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगा दी है ।

जबकि नियुक्ति प्रक्रिया अंतिम दौर में थी और मार्च में शिक्षकों को नियोजन पत्र दिया जाना था ।

बिहार सरकार ने पटना हाईकोर्ट के एक आदेश के बाद नियुक्ति प्रक्रिया रोकने का आदेश जारी किया है सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि बिहार पंचायत प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली पंचायत नियोजन एवं सेवा नियमावली के आधार पर होनी थी।

इसलिए नियमावली के अनुसार बिहार में Nios से 18 महीने डीएलएड करने वाले छात्रों को नहीं लेने का प्रावधान है ।

इसके लिए शिक्षा विभाग ने ncte यानी की राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद से भी परामर्श लिया था जिसमें ncte ने स्पष्ट निर्देश दिया था कि पंचायत शिक्षक नियोजन में अठारह महीने के deled को मान्यता नहीं दी जा सकती है।

जिसके बाद डdeled करने वाले छात्र हाईकोर्ट चले गए जब हाइकोर्ट ने इनके पक्ष में फैसला दिया था और अपील करने वालों को शिक्षक पद पर नियोजन के लिए सरकार को उनके आवेदन पर विचार करने के आदेश भी दिए थे।

इसके बाद प्राथमिक शिक्षा निदेशालय ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद में इस संबंध में मार्गदर्शन मांगा है ।

और साथ ही यह जानना चाहा है कि क्या अध्यापक शिक्षा परिषद कोर्ट के इस फैसले के ख़िलाफ़ अपील कर रहा है इसका जवाब नहीं मिलने की वजह बताकर सरकार ने नियोजन प्रक्रिया पर ही रोक लगा दी हैं।

आपको बता दें कि शिक्षा विभाग ने 22 अगस्त2019 22 नवंबर 2019 के आदेश के द्वारा प्रारम्भिक शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया शुरू की थी ।

जबकि जनवरी में ही मेरिट लिस्ट जारी करना था अब देखने वाली बात यह होगी कि सरकार कब तक बाहरी पूरी कर पाता है ताकि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य बर्बाद ना हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published.