mptet 2020 नए नियमों से शिक्षक भर्ती होने की संभावना।

मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया भी शायद नए नियमों के अनुसार होने की संभावनाएं बनने लगी हैं । लोक शिक्षण संचालनालय ने भी इसके संकेत दिए हैं । अधिकारियों ने साफ कहा है कि हम राज्य सरकार के आदेशों पर ही निर्भर हैं ।

बताना होगा कि पिछले सप्ताह प्रदेश में बेरोजगारों की चिंता करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐतिहासिक घोषणा की थी । उन्होंने अपनी घोषणा में कहा था कि अब मध्यप्रदेश में सिर्फ राज्य के युवाओं को ही रोजगार मिलेगा । इस घोषणा के बाद जिन विभागों में भर्ती प्रतीक्षा में जुट गए हैं । शिक्षक भर्ती प्रक्रिया भी प्रचलन प्रक्रिया चल रही हैं वहां अधिकारी अब नए नियमों की में हैं । शिक्षक परीक्षा देने वाले प्रदेश के युवाओं द्वारा लगातार मांग की जा रही है कि भर्ती परीक्षा में मुख्यमंत्री का घोषणा का पालन होना चाहिए । इधर उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक शिक्षक भर्ती की काउंसलिंग प्रचलन में है , क्योंकि सीएम की घोषणा के पहले ही यह परीक्षाएं संपादित हो चुकी थीं । इस कारण अधिकारियों ने भी अब सरकार के नए आदेश पर आशा लगाए रखी हैं । लोक शिक्षण संचालनालय के प्रभारी कमिश्नर एवं संचालक गौतम सिंह का कहना है प्रोविजनल सूची तो जारी हो चुकी है । अब शासन का जो आदेश होगा , उसके अनुसार इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा । नए नियमों के अनुसार होगी प्राथमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया अधर में अटकी प्राथमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार नए नियमों के अनुसार होगी ।

प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड ने भी इस प्रकार के संकेत दिए हैं । यहां अधिकारियों का कहना है कि मुख्यमंत्री की घोषणा अब सिर्फ प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने की है । इस कारण बाहरी राज्यों के युवाओं को भर्ती परीक्षाओं में शामिल करना कहीं से भी संभव नहीं है । अधिकारियों का कहना है कि अब इस परीक्षा के लिए जब तक नए नियम तैयार नहीं होंगे । तब तक प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा कराना कहीं से भी संभव नहीं है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.