BLACK FOBIA ब्लैक फंगस का डर : लोग खुद करवा रहे एमआरआइ

कोरोना वायरस के बाद ब्लैक फंगस भी लोगों के बीच महामारी के रूप में देखि जाने लगी है मध्यप्रदेश ,हरियाणा जेसे राज्यों ने इसे महामारी घोषित भी कर दिया है लेकिन इस बिमारी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण लोग इसके बारे में ठीक से समझ नहीं पा रहे हैं यही कारण है की लोग थोड़े से ही लक्षण दिखने पर बिना डॉक्टर की सलाह के mri तक करवा रहे हैं इससे यह साबित होता है की लोगों के बीच ब्लैक फंगस का डर या कहें तो एक प्रकार से black fobia हो गया है ,इसके कारण ही लोग थोड़े से लक्षण दिखने पर ये मान लेते हैं की उनको ब्लैक फंगस न हो गया हो और वह इसका जल्दी से जल्दी पता लगाने का रास्ता तलाशने लगते हैं और बिना डॉक्टर की सलाह के mri तक करवा लेते है अगर सामान्यतः देखा जाए तो ENT EXPERTS के यहाँ जितने लोग ब्लैक फंगस के इलाज के लिये आ रहे हैं उनमे से 40 प्रतिशत को केवल वहम है लगभग 30 प्रतिशत लोग खुद mri तक करवा रहे हैं जबकि mri कराने के बाद व्यक्ति को संदिग्ध माना जाता है ओर उसे अपनी रिपोर्ट डॉक्टर को दिखानी ही होती है जबकि mri महंगी होती है और mri तब की जाती है जब व्यक्ति को बिमारी हो और फंगस को नेजल में न खोज पा रहे हों

Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published.