प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना : सम्पूर्ण जानकारीं

नमस्कार दोस्तों आज की इस लेख में हम आपको बताएंगे कि ,प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है |इसके बारे में संपूर्ण विवरण और जानकारी हम आज आपको देंगे | कृपया  लेख को अंत तक जरूर पढ़ें |

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देश के किसानों के लिए  चलाई गई एक योजना है| इससे किसानों को अगर उनकी फसल अतिवृष्टि ,अनावृष्टि ,सूखा पड़ने  ,ओले पड़ने आदि से नष्ट हो जाती है ,तो उनको फसल नष्ट होने पर बीमा प्रदान किया जाता है |  इस योजना का कार्यान्वयन भारतीय बीमा कंपनी  द्वारा किया जाता है |इस योजना में खरीफ फसल का 2% और रवि फसल का  1.5%  भुगतान बीमा कंपनी करती है |

चलिए जानते हैं इस योजना के संबंध में अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

इस योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को की गई थी |

 इसके लिए प्रत्येक बस 5.5 करोड़ आवेदन आते हैं|

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत अब तक  90 हजार करोड़ रुपए के दावों का भुगतान किया जा चुका है|

इस योजना में बुवाई से पहले और फसल कटने बाद तक का समय शामिल किया गया है | यानी कि अगर बुवाई से पहले और फसल कटने के बाद तक अगर आप की फसल किसी भी प्राकृतिक घटना के कारण खराब होती है, तो उसका बीमा कंपनी आपको बीमा  राशि देगी |

इसी योजना की अतिरिक्त प्रीमियम राशि राज्य सरकार और भारत सरकार देती हैं |पूर्वोत्तर के राज्यों में 90% प्रीमियम राशि भारत सरकार देती है |

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि औसतन ₹40700 प्रति हेक्टेयर है| 

PMFBY 2021 आवेदन केसे करें ?

इस योजना के लिए आवेदन 31 जुलाई 2021 तक किए जाने हैं |अगर आप भी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो अपने पास के सीएससी या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के माध्यम से आप आवेदन कर सकते हैं | अगर कोई भी  ऋण लेने वाला किसान इस योजना मैं आवेदन नहीं करना चाहता है , तो उसको योजना की अंतिम तिथि के पूर्व यानी कि 24 जुलाई 2021  तक बैंक में जाकर लिखित में आवेदन देना होगा कि, वह इस योजना का लाभ लेना नहीं चाहता ,अन्यथा उसका इस योजना हेतु पंजीकरण कर दिया जाएगा |अर्थात उसके बीमा का प्रीमियम बैंक द्वारा स्वता ही काट लिया जाएगा| अगर किसान अपनी फसल में कोई बदलाव करना चाहते हैं ,तो इसकी जानकारी उन्हें अंतिम तिथि के 2 दिन पूर्व यानी 29 जुलाई 2021 तक  बैंक में देनी होगी| 

Leave a Comment

Your email address will not be published.