मध्यप्रदेश में इस वर्ष केसे होंगी स्नातक ,स्नातकोत्तर और तकनीकी परीक्षाएं ?

कोरोना के कारण समस्त देश में परीक्षाएं समय पर नही हो पायीं | चाहे वह सीवीएसई की परीक्षाएं हों या राज्य सरकार की या फिर उच्च शिक्षा विभाग की सभी परीक्षाएं या तो रद्द कर दी गई,या परिक्षा कराने के दुसरे तरीके निकाले गए | आइये जानते हैं मध्यप्रदेश में सभी परीक्षाओं के बारे में सरकार ने क्या निर्णय लिया है |

सरकार ने कक्षा 10 की परिक्षा पहले ही रद्द कर दी थी | रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बनेगा |

कक्षा 12 की परीक्षाएं भी रद्द करदी गई है | पर जो छात्र परीक्षा देना चाहते हैं वो परिक्षा दे सकते हैं |

स्नातक और स्नातकोत्तर परीक्षाएं किस प्रकार होंगी |

स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाएं पिछले वर्ष के अनुसार ओपन बुक पद्धति से होंगी | नियत दिनांक और समय पर विद्यार्थियों को ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से प्रश्न पत्र उपलब्ध कराया जाएगा | वह अपने घर पर बैठकर ही इसका उत्तर अपनी कॉपी में लिखकर से पास की संग्रहण केंद्र में जमा करा पाएंगे | जिन छात्रों के पास इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है , उनको पास के परीक्षा केंद् में परीक्षा देने की सुविधा दी जाएगी |

मध्य प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों में स्नातकोत्तर  के 308117 तथा  स्नातक के 1488958  परीक्षार्थी इस वर्ष परिक्षा देंगे |

स्नातक तृतीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं जून 2021 में आयोजित होंगी |इसी प्रकार स्नातक द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा जुलाई 2021 में आयोजित होंगी|

 स्नातक तृतीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर का रिजल्ट जुलाई 2021 तक  एवं स्नातक द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर का रिजल्ट अगस्त 2021 तक  आएगा |

मध्य प्रदेश की सभी तकनीकी विभाग की परीक्षा ऑनलाइन और ओपन बुक पद्धति से होंगी | परीक्षा में विद्यार्थी को 2 घंटे का समय मिलेगा और वे उत्तर भी ऑनलाइन ही लिखेंगे | प्रदेश के तकनीकी महाविद्यालय में 187811 परीक्षार्थी हैं | परीक्षाएं जून एवं जुलाई में आयोजित की और परीक्षा के परिणाम  10 दिन में आ जाएंगे | मूल्यांकन के दौरान 50% पिछले   सेमेस्टरों  तक अर्जित सीजीपीए का अधिकार मान्य किया जाएगा |

Leave a Comment

Your email address will not be published.