बिना पेड़ लगाए मध्यप्रदेश में नहीं बना पाएंगे घर

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रदेश व्यापी अंकुर वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत की | मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें पेड़ लगाने चाहिए |पेड़ एक जीवित ऑक्सीजन प्लांट  है| पेड़ों से बहुत सारे जीव जंतुओं को भी आश्रय मिलता है | हर पेड़  का पर्यावरण संतुलन में बहुत ही ज्यादा महत्व  है |मुख्यमंत्री ने सभी देशवासियों से अपील की है कि वह अपने सारे खुशी के मौके जैसे जन्मदिन ,शादी समारोह, वर्षगांठ आदि पर एक पेड़ अवश्य लगाएं |और लोगों को भी पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करें|

प्रदेश में वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए अंकुर अभियान प्रारंभ किया गया है|  जिसके अंतर्गत 26 मई को वायुदूत नाम की एक ऐप जारी की गई थी|  जिस पर आप पेड़ लगाते हुए अपनी तस्वीर साझा कर सकते हैं | इस ऐप पर अब तक 2500 से ज्यादा लोगों ने पेड़ लगाते हुए अपने फोटो साझा किए हैं |इस कार्यक्रम में अब तक 15000 से अधिक लोगों ने आवेदन किया है | जो लोग वृक्ष लगाएंगे | उन सभी को वृक्ष वीर और  वृक्ष वीरांगना की उपाधि प्रदान की जाएगी | इनमें से कुछ चुनिंदा प्रतिभागियों को प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा|

विना पेड़ लगाए नहीं बना पायेंगे घर

मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि  जो व्यक्ति नया भवन बनाएगा उसे एक पेड़ अवश्य ही लगाना होगा | अन्यथा उसे मकान बनाने की परमिशन नहीं मिलेगी | चाहे वह नगर निगम हो नगर पालिका हो या नगर  पंचायत हो | बिना पौधा लगाएं आप मकान नहीं बना सकेंगे| अगर आपके मकान में जगह नहीं है तो, पार्क में पौधा लगाएं और उसकी सुरक्षा करें |तभी आपको मकान बनाने की परमिशन मिल  पाएगी|

इसके अलावा ग्राम पंचायत को भी यह निर्देश दिए गए हैं कि ,गांव में भी भवन निर्माण के लिए वृक्षारोपण अनिवार्य शर्त होगी |चाहे वह भवन प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत ही क्यों ना हो | बिना वृक्षारोपण के भवन निर्माण की अनुमति नहीं होगी | इसके अलावा बिल्डर जितने फ्लैट बनाएगा उसे उतने ही वृक्ष लगाने होंगे | बिना वृक्ष लगाए बिल्डर को भी बिल्डिंग बनाने की अनुमति नहीं दी जाएगी | ठीक इसी प्रकार से सभी सरकारी कार्यालयों दफ्तरों और प्राइवेट कार्यालय के लिए भी लागू  की जाएगी|

Leave a Comment

Your email address will not be published.